मूल्य और समर्थन प्राप्त करें

हिन्दी

'शैतान की आँख' (1923 ई ) 'विस्मृति के गर्भ से तेली के कोल्हू के बैल ही दुनिया में सब कुछ करते हैं। आधुनिक विज्ञान में चार्ल्स डारविन

Shwet Swati Deep

वह आँख बंद ।माँ गरम गरम खाना वहीं ले आई । कुमुद को खाने की प्लेट पकड़ा कर उसके लिये पानी लेने चल दी । यह भी भूल गयी कि समीर उसके पहले

गाँव

समय प्रातःकाल 6 30 बजे स्थान बर्थ सं 18 – a1 पटना-सिकंदराबाद एक्सप्रेस इस पोस्ट को लिखने का तात्कालिक कारण तो इस ए सी कोच का वह ट्वॉएलेट है जिससे निकलकर मैं

ABHIVYAKTI अभिव्यक्ति 2011

एक युवा जिसके कुछ सपने हैं कुछ विशिष्ट विचार एवं संकल्पनाएँ हैं जिसकी कुछ प्रतिमाएँ अभी सामने आनी बाकी हैं और जिसकी चाहत है अपने चारों ओर एक सकारात्मक

छोटा भाई अपने बड़े भाई को भैया कहकर बुलाता था तो उसमें एक तरह की गर्व की भावना भर जाती थी और एक सुरक्षा का भी अहसास होता था। मैं अक्सर डाइनिंग रूम से बाहर

FREEDOM – Cyber News Network

पाकिस्तान की असेंब्ली में जिन्ना ने भी यही कहा था की 'पाकिस्तान सभी धर्मों के लिए हैं'। लेकिन ऐसा नहीं था। ऐसा हुआ भी नहीं। असली दंगे तो आजादी मिलने के

गाँव

समय प्रातःकाल 6 30 बजे स्थान बर्थ सं 18 – a1 पटना-सिकंदराबाद एक्सप्रेस इस पोस्ट को लिखने का तात्कालिक कारण तो इस ए सी कोच का वह ट्वॉएलेट है जिससे निकलकर मैं

महुआ घटवारिन (कुछ प्रेम कथाएँ) 2018

मूंडवे वालों का जलवा (कहानी पंकज सुबीर) सामयिक सरस्वती के अक्टूबर-दिसम्बर 2018 अंक में प्रकाशित

Tyagi Uwaach

सब ग्रह-उपग्रह आपकी गणनाओं के गुलाम हैं। आप उनके लिए जैसी भी लकीर खीच देते हैं वे उसी के फकीर हो जाते हैं। फिर आँख पर बंधे कोल्हू के बैल की तरह रात दिन एक

ABHIVYAKTI अभिव्यक्ति 2011

एक युवा जिसके कुछ सपने हैं कुछ विशिष्ट विचार एवं संकल्पनाएँ हैं जिसकी कुछ प्रतिमाएँ अभी सामने आनी बाकी हैं और जिसकी चाहत है अपने चारों ओर एक सकारात्मक

महुआ घटवारिन (कुछ प्रेम कथाएँ) 2018

मूंडवे वालों का जलवा (कहानी पंकज सुबीर) सामयिक सरस्वती के अक्टूबर-दिसम्बर 2018 अंक में प्रकाशित

काव्य संसार दिसंबर 2013

2013-12-31बैल कोल्हू की तरह कटती बिचारी जिंदगी किसको पडी है झाँके जो औरों की प्लेट में नहीं उठने का जी करता आँख भी खुल न पाती है

indore lekhika sangh इन्दोर लेखिका संघ इंदोर

महिला रचनाकारों के लिए है |कृपया अपनी मौलिक रचनाएँ अथवा साहित्य की अच्छी रचनाएँ जो आप मित्रों से साझा करना चाहते हैं वे भी भेज सकते है |साहित्य की

काव्य संसार दिसंबर 2013

2013-12-31बैल कोल्हू की तरह कटती बिचारी जिंदगी किसको पडी है झाँके जो औरों की प्लेट में नहीं उठने का जी करता आँख भी खुल न पाती है

Shwet Swati Deep

वह आँख बंद ।माँ गरम गरम खाना वहीं ले आई । कुमुद को खाने की प्लेट पकड़ा कर उसके लिये पानी लेने चल दी । यह भी भूल गयी कि समीर उसके पहले

कहानी समकालीनः एकबार फिर

"आप अंदर जा सकती हैं" चपरासी की आवाज़ सुनकर शालिनी की तंद्रा टूटी। नेमप्लेट पर "प्राचार्या शारदा देवी" लिखा देख कर वह अतीत में खो गई थी। वह धीरे से उठी

प्रत्यक्षा 2007

पत्नी को बेढंगे तरीके से पैर से ठेलकर कवि ने उठाया । पत्नी भकुआई आँख मलती उठी । बेसऊर फूहड़ थी पर गृहस्थिन थी सो उठी और चाय बना लाई फिर आँचल कमर में कस

प्रत्यक्षा 2007

पत्नी को बेढंगे तरीके से पैर से ठेलकर कवि ने उठाया । पत्नी भकुआई आँख मलती उठी । बेसऊर फूहड़ थी पर गृहस्थिन थी सो उठी और चाय बना लाई फिर आँचल कमर में कस

कहानी

हमेशा मेरी प्लेट के समोसे भी खा जाया करती थी पूरा कोल्हू का बैल है वह। मैं भी कुल्ला कर बैठते ही आँख बंद कर लेते हो

Shwet Swati Deep

वह आँख बंद ।माँ गरम गरम खाना वहीं ले आई । कुमुद को खाने की प्लेट पकड़ा कर उसके लिये पानी लेने चल दी । यह भी भूल गयी कि समीर उसके पहले

कहानी

इन दिनों आप हर सोमवार को युवा कहानीकारों की कहानियों का आनंद ले रहे हैं। अब तक हम आपको शशिभूषण द्विवेदी की कहानी 'एक बूढ़े की मौत' और गौरव सोलंकी की कहानी

Tyagi Uwaach

सब ग्रह-उपग्रह आपकी गणनाओं के गुलाम हैं। आप उनके लिए जैसी भी लकीर खीच देते हैं वे उसी के फकीर हो जाते हैं। फिर आँख पर बंधे कोल्हू के बैल की तरह रात दिन एक

FREEDOM – Cyber News Network

पाकिस्तान की असेंब्ली में जिन्ना ने भी यही कहा था की 'पाकिस्तान सभी धर्मों के लिए हैं'। लेकिन ऐसा नहीं था। ऐसा हुआ भी नहीं। असली दंगे तो आजादी मिलने के

असगर वजाहत — साहित्य गंगा

उपन्यास सात आसमान कैसी आगी लगाई रात में जागने वाले पहर-दोपहर मन माटी चहारदर फिरंगी लौट आये जिन्ना की आवाज वीरगति नाटक जित लाहौर नईं वेख्या वो जन्

Blogger

मन के भाव शब्दों में ढलकर जब काव्य रूप में परिणित होकर लेखन की भूमि पर बोये जाते है तो अंकुरित हरितिमा सबको मुकुलित करती है! स्वागत है आपका इस काव्य भूमि

के बारे में समाचार कोल्हू पिटमैन आँख सुरक्षा प्लेट

हरियाना में बिक्री के लिए कोल्हू

कोल्हू का आकार जबड़े का आकार

बिक्री के लिए कोल्हू उपकरण मशीनरी

दक्षिण अफ्रीका में कोल्हू जर्मनी

घर में उपयोग की समीक्षा के लिए कोल्हू

दक्षिण में कोल्हू प्रकार का चयन

कोल्हू मिनी जबड़े कोल्हू

भारत में कोल्हू की कीमत आज

चित्रों के साथ कोल्हू 4 चरणों

पश्चिमी में बिक्री के लिए कोल्हू

कोल्हू आपूर्तिकर्ता पत्थर जबड़े कोल्हू है

कोल्हू एल्यूमीनियम को कुचलने के लिए उपयोग किया जाता है

बिक्री के लिए कोल्हू इस्तेमाल की लागत

कोल्हू 2 1 4 एक्स

भारत में क्रशर प्लांट की बिक्री

कोल्हू प्रभाव कोल्हू पत्थर मशीन है

कोल्हू स्पेयर पार्ट्स शंकु

के लिए कोल्हू मशीन की कीमत कम है

बिक्री के लिए कोल्हू प्रक्रिया संयंत्र

भारत में खनिजों के लिए कोल्हू