मूल्य और समर्थन प्राप्त करें

व्यंग्य संग्रह

आज की पीढ़ी को कोल्हू के बैल की कथा सुनाने व् महसूस कराने में शायद हम कामयाब न हों मगर हमने अपनी आखों से कोल्हू के बैल को 'तिल की घानी' में घूमते हुए देखा

katha

इन दोनों ही कवियों की इस समानता की दाद देनी पड़ेगी कि दोनों में किसी को भी कैंसर रोग से पीड़ित इंसान के मानसिक शारीरिक और भावनात्मक कष्ट व पीड़ा से कोई

ब्लॉग बुलेटिन अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2018

08 03 2018या भीड़ से अलग दिखने की सलाहियत थी उसमें एक ख़ास तरह का नमक था उसमें । अजब पहेली सी लड़की कहीं सब कुछ अभिनय ही न हो! या फिर बड़े बनने के स्वप्न के टूट जाने क�

किशोर कहानी – बालकहानी

लोग जिएं या निकले दम लाभ हमारा ना हो कम हमें चाहिए खूब चाहिए रोज चाहिए सदा चाहिए पैसा पैसा पैसा पैसा महामंत्री ने अपना घोड़ा रोक दिया कुछ देर बा�

राष्ट्रीय दर्पण आईना सच का 2013

याद रखिए इंदिरा की सत्ता को भी इसी युवा वर्ग ने पलट दिया था। ये वही युवा वर्ग था जिसने आजादी की लड़ाई तो नहीं देखी थी लेकिन आजादी के 30 सालों को या तो जिया

दिव्य नर्मदा Divya Narmada 2009/06

बाहर की दीवारों पर सफेद हल्का आसमानी या लाइट येलो कलर करवायें आप पायेंगे कि ए सी कूलर व फैन की जरूरत कम पड़ रही है घर के तापमान में २ से ३ डिग्री की

{Np2 1} या धन की देषौ अधिकाई तसकर हरै न लागै काई | {Np2 2} दह दिसि रांम रह्यौ भरपूरि संतनि नेरै साकत दूरि | {Np2 3} नांमदेव कहै मेरै करसन सोई कूंत मसाइति करै न कोई | {Np3 0} रा�

अनूप सेठी

उसका अंतरमन कैसे बदल रहा है और जो नया मनुष्य या नये करेक्टर हमारे पास आ रहे हैं हरिचरण ने कहा इम्परसनल मनुष्य बन रहा है जिसके संबंधों में रागात्मकता

YOUNG AZAMGARH 2012

तेली का कोल्हू धुनिया की लम्बी धुनकी भाथी लोहार की क्यों अपना ही सिर धुनती? टाटा बनाता है नमक से कुदाल तक बनिया तो बेच रहा सील-बन्द दाल तक! कपड़ों के थान �

इकीसवीं शताब्दी का हिंदी बालसाहित्य – बालकहानी

Posts about इकीसवीं शताब्दी का हिंदी बालसाहित्य written by ओमप्रकाश कश्यप

ब्लॉग बुलेटिन मई 2016

31 05 20163-अमेरिकी अंतरिक्ष यान की तरह दिखने वाले डबल डेल्टा पंखों वाले यान को एक स्केल मॉडल के रूप में प्रयोग के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है जो अपने अंतिम

माह की कविताएँ

माँ अब अनुकूल होओ मेरा शीश अब तेरे चरण। उमड़ता परिताप पश्चाताप का अब विकल्प है। अब न होगा कोई पाप तेरे हितार्थ ये संकल्प है। आशुतोषी माँ नर्मदा अभय का व�

अनूप सेठी

उसका अंतरमन कैसे बदल रहा है और जो नया मनुष्य या नये करेक्टर हमारे पास आ रहे हैं हरिचरण ने कहा इम्परसनल मनुष्य बन रहा है जिसके संबंधों में रागात्मकता

विक्षनरी हिन्दी

इ - ई - उ - उद - ऊ - ऋ - ए - ऐ - ओ - औ क - कथ - कर - कल - काग - कि - कु - कू - कौ - ख - खि - ग - गत - गा - गु - गो - घ च - चप - चि - चु - छ - ज - जल - जि - झ - ट - ठ - ड - ढ त - तर - ति - तू - त् - थ - द - दा - दु - दे - द् - ध - धा

सदस्य वार्ता Jagadishwar chaturvedi

आधुनिकयुग में भारत में जितने भी विचारक हुए हैं वे यथार्थ के बारे में बातें करते हुए मिथ्या गौरव और मिथ्या जातीय अभिमान पैदा करते हैं। इन विचारकों का

{Np2 1} या धन की देषौ अधिकाई तसकर हरै न लागै काई | {Np2 2} दह दिसि रांम रह्यौ भरपूरि संतनि नेरै साकत दूरि | {Np2 3} नांमदेव कहै मेरै करसन सोई कूंत मसाइति करै न कोई | {Np3 0} रा�

allaboutexam

'जब परस्पर सम्बन्ध रखने वाले दो या दो से अधिक शब्दोँ के बीच की विभक्ति हटाकर उन्हेँ मिलाकर जब एक नया स्वतन्त्र शब्द बनाया जाता है तब इस मेल को समास कहते

कृषि

वर्ष 2008-09 के चौथे पूर्व आकलन के अनुसार खाद्यान्न का उत्पादन 238 88 करोड़ टन होने का अनुमान है। ये पिछले वर्ष की तुलना में 1 करोड़ 3 1 लाख टन अधिक है। चावल का

काव्य संसार अगस्त 2015

31 08 2015या जिससे मैं डरता हूँ मैं उनकी चापलूसी करता हूँ उसे खूब मख्खन लगाता हूँ चने के झाड़ पर चढ़ाता हूँ हर इंसान में तारीफ़ करवाने की एक भूख होती है मैं उसे श�

Baby Name

इस्लामी पंचांग या कैलेण्डर या मुस्लिम कैलेण्डर को (अरबी التقويم الهجري अत-तक्वीम-हिज़री फारसी تقویم هجری قمری ‎'तकवीम-ए-हिज़री-ये-कमारी) जिसे हिजरी कैलेण्डर भ�

माण्डूकयोपनिषद अद्वैत प्रकरण श्लोक~१ अंक

जिस प्रकार घटाकाश आकाश का विकार या अवयव नहीं है उसी प्रकार जीव भी आत्मा का विकार या अवयव कभी नहीं है ।।७।।हे सखी!!कनिका में इसे ही स्पष्ट करते हैं कि घड़े

के बारे में समाचार कोल्हू 3 ए एकल चरण या

सीमेंट प्रक्रिया संयंत्र के लिए क्रशर

नई हालत में कोल्हू भाड़े पर

आधुनिक डिजाइन के कोल्हू का कोल्हू

गोल्ड अयस्क क्रशिंग के लिए कोल्हू

बिक्री के लिए भारत में कोल्हू

बालू बनाने वाले माली के लिए कोल्हू

कोल्हू का पौधा 20 t h

क्रेशर स्टेशन की कीमत कम

के लिए खदान कोल्हू के रूप में कोल्हू

राजस्थान में क्रशर पार्टी की सूची

वियतनाम में कोल्हू मशीन

कोल्हू मशीन परियोजना रिपोर्ट प्रारूप

बांग्लादेश में बिक्री के लिए कोल्हू

कोल्हू पत्थर क्रशर बिक्री के लिए

गुणवत्ता आश्वासन के साथ कोल्हू के पौधे

कोल्हू 40 टन घंटे का इस्तेमाल किया

कोल्हू बाइक भारत में उपलब्ध है

भारत में भाड़े के लिए कोल्हू

एक निबंध पर कोल्हू का अंतर

दक्षिण में कोल्हू हाथ गार्ड