मूल्य और समर्थन प्राप्त करें

दफ़्‌अतन

2011-12-31मुल्क उसी कोल्हू के बैल की तरह चक्कर काट रहा है जहाँ लगाम पकड़ने वाले हाथ भर बदल गये हैं आज जब नेताओं की गरदन पर पड़े नोटों के एक हार की कीमत उसे वोट देने व

Samaadhan

-- उस दौर के तमाम बड़े लोगों की तरह वीर सावरकर ने भी इंग्लैंड में बैरिस्टर का इम्तिहान पास किया था। लेकिन वहां के नियमों के मुताबिक बैरिस्टर बनने के लिए

भलाई करोगे तो भलाई ही मिलेगी

अै कै वै ? hijra आख़ा ख़िलक़त में भांग न्हाख्योड़ी भांग बैना रौ पाट कठै जावै रै कङी खायोड़ा - पहला भाग मारवाड़ी हास्य-नाटक marwadi play धामा-धपाड़ा न्हाटै क्यू�

कहानी

ई-मेल-shekhar mallick 18 ये सब बातें वह अंग्रेज़ी में बोल रही थी। अंग्रेज़ी चमत्कारिक भाषा है जिसमें बहुत अश्लील बातें भी सभ्य लगती हैं। वह चुपचाप लौट आया। उसने �

शब्द 07/12/13

1990 में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के बड़े हिमायती और पोस्टर बॉय बने जब वे एंटी टेररिस्ट पुलिस ऑफिसरों के साथ एक जगह से दूसरी जगह भटक रहे थे क्योंकि उनके उ�

SANTOSH KATHA SAGAR I संतोष कथा सागर April 2015

2015-04-17जीव और ईश्वर में भेद तो कोल्हू में जोता गया। बाद में जब वह किसी काम का न रहा तो किसान के लड़कों ने उसे एक कसाई को बेच दिया। कसाई ने उसके टुकड़े करके उसका

dharm

इस विषय में कुछ भी कहना कठिन है छोटे बच्चे को रोना सिखाना नहीं पड़ता थोड़ा सा कष्ट पड़ते ही वह रोएगा थोड़ी सी भूख लगते ही वह रोएगा मन में तड़प होते ही वह

विकिपीडिया हिन्दी शब्दसूची

अनुक्रम अ आ इ ई उ ऊ ऋ ॠ ऌ ॡ ए ऎ ऍ ऐ ओ ऒ ऑ औ क ख ग घ ङ च छ ज झ ञ ट ठ ड ढ ण त थ द ध न ऩ प फ फ़ ब भ म य र ल ळ ऴ व श ष स ह ० १ २ ३ ४ ५ ६ ७ ८ ९ पन्ने का शीर्ष — इन्हें भी देखें

संग्रह और संकलन अगस्त 2015

2015-08-02देश में अराजकता नाग के फन की तरह मुह बाये खड़ी है मानवीय संवेदनाएँ तार तार हो रही हैं। गरीबों के बदहाल जीवन की व्यथा को कवि ने जैसे साक्षात पन्नों पर उता

जंतर मंतर January 2014

में जब तुगलक ने दकन कूच किया तो देहली की भाषा हिंदवी उनके साथ गई। अब इस ज़बान में मराठी तेलुगू और गुजराती के शब्द मिल चुके थे। दकनी और गूजरी का जन्म हो

सुनंदा की डायरी / शिक्षा / राजकिशोर

ई-पुस्तकें साझा मंच (ई-पत्रिकाएँ) शहरी बस्तियों से रचनाकारों की सूची हिन्दी राजस्थानी अंगिका गद्य कोश रचनाएँ खोजें अपनी रचनाएँ भेजें गद्य कोश में श्�

मगध की लोककथाएँ संचयन March 2008

ढेर देरी तक बतकुच्चन के बाद लकड़हारा राजा के पास चल गेल । राजा ओकर गरीबी देख के एगो लाल दिया देलन । ऊ ले के चल आयल । राह में सोचलक कि ई

PAGE 1353

(ई) रखवाला सलोक म २ (वार सोरठि की) -नकि नथ खसम हथि - पन्ना 653 तेली का काम है कोल्हू में तिल पीढ़ के तेल निकालना और बेचना। वह सारा दिन यही काम करता है। उसके हा�

मगही

1347 कंगरेस (= कांग्रेस) (नसध॰ 30 130 30) 1348 कंझिला (गो॰ 5 24 13) 1349 कंटर (जाड़ा के दिन में गुड़ के भेली सोंप-जीरा आउर न जानी कउन-कउन मसाल

कहानी – उपदेश

प्रयाग के सुशिक्षित समाज में पंडित देवरत्न शर्मा वास्तव में एक रत्न थे। शिक्षा भी उन्होंने उच्च श्रेणी की पायी थी और कुल के भी उच्च थे। न्यायशीला

Munshi Premchand Ki Kahaniya

पहला दिन तो कमलाचरण ने किसी प्रकार छात्रालय में काटा। प्रात से सायंकाल तक सोया किये। दूसरे दिन ध्यान आया कि आज नवाब साहब और तोखे मिर्जा के बटेरों में

जंतर मंतर August 2009

2009-08-30मेरे गांव में एक चश्मा बाबा थे। नाम कुछ और था लेकिन चश्मा लगाते थे इसलिए उनका नाम यही हो गया था। सन् 1968 में जब उनकी मृत्यु हुई तो उम्र निश्चित रूप से 90 साल

असग़र वजाहत का सम्पूर्ण कहानी संग्रह मैं हिन्दू हूँ

असग़र वजाहत का सम्पूर्ण कहानी संग्रह मैं हिन्दू हूँ टीप – 1-संपूर्ण संग्रह की फ़ाइल बड़ी है अतः पृष्ठ लोड होने में समय लग सकता है अतः क

के बारे में समाचार निगरिया में कोल्हू ई कुली

क्रशर संचालक ने गुजरात में नौकरी की

कोल्हू जबड़े कोल्हू के साथ सबसे अच्छा है

कोल्हू प्रभाव मशीन पत्थर कोल्हू है

बिक्री के लिए कोल्हू कोल्हू स्क्रीन

कोल्हू में भारत निर्माता क्रेशर

कोल्हू बिक्री यूरोप सोने का इस्तेमाल किया

कोल्हू उत्पाद उन्नयन सॉफ्टवेयर डाउनलोड

बिक्री के लिए कोल्हू कम असर

सोने के खनन के लिए कोल्हू चीन

तमिलनाडु में क्रशर प्लांट की नौकरी

कोल्हू चलाने के लिए उपभोग करेंगे

कुल निर्माण के लिए कोल्हू मशीन है

रेत बनाने के लिए कोल्हू कक्ष

एक खदान पर क्रशर प्रक्रिया

बिक्री के लिए कोल्हू यूरोप में

बिक्री के पत्थर के लिए कोल्हू भागों

कोल्हू डबल रोल कोल्हू

कोल्हू मशीनरी चीन मुख्य भूमि खनन

उच्च गुणवत्ता के साथ कोल्हू की कीमत

भारत बिक्री के लिए कोल्हू